Gulaab Lyrics in Hindi - Harinder Samra

Gulaab Lyrics in Hindi:- Presenting the Lyrics of the Punjabi song Gulaab from the Album Roots sung and written by Harinder Samra. The music of the song is given by Akash Narwal whereas the Music Label Company of the song is Geet Mp3.

Gulaab Lyrics in Hindi

Gulaab Lyrics in Hindi:-

साड्डा गुलाब तां खौरे किथे रुल गया
साड्डा गुलाब तां खौरे किथे रुल गया
लंखा दा होके ओ
लंखा दा होके लाग तक्खां दे ओ भुल गया

साड्डा गुलाब तां खौरे किथे रुल गया
साड्डा गुलाब तां खौरे किथे रुल गया

वेखणे नू सोणा सी ओ दिल दा बीमार सी
लागदी दी सोने दी जो ताम्बे दी ओ तार सी
उतला विखावा सी जो
उतला विखावा सी जो भेद ओदा खुल गया

साड्डा गुलाब तां खौरे किथे रुल गया
साड्डा गुलाब तां खौरे किथे रुल गया

मेरा सी ओ हाणी गुडी
इश्क कहाणी सी
मेरे ख्वाबां वाड़े बाग दा
मैं सी राजा ते ओ राणी सी

सारी नगरी दे उत्ते हाए
नगरी दे उत्ते
चौरा चखड़ा दा चुल गया

साड्डा गुलाब तां खौरे किथे रुल गया
साड्डा गुलाब तां खौरे किथे रुल गया

सुणया ऐ मेरे बाजों ओ वी मुरझा गया
मैंड़ियां हवावां वाड़ा रोग ओनू खा गया
खुशबु मिटोण वाड़ा
खुशबु मिटोण वाड़ा जैर ओते डुल गया

साड्डा गुलाब तां खौरे किथे रुल गया
साड्डा गुलाब तां खौरे किथे रुल गया

Written by:
Harinder Samra

Gulaab Song Details:-

Singer:- Harinder Samra
Album:- Roots
Lyricist:- Harinder Samra
Music:- Akash Narwal
Language:- Punjabi
Music Label:- Geet MP3

Gulaab Song Official Video Song:-



Hope you would have liked the Gulaab Lyrics in Hindi sung by Harinder Samra. Do comment us for any changes or corrections. Stay tuned in for more song lyrics.

Related Posts