Na Keh Saaqi Bahar Aane Ke Din Hein Lyrics – Jagjit Singh

Na Keh Saaqi Bahar Aane Ke Din Hein Lyrics:- Presenting the Lyrics of the Hindi song 'Na Keh Saaqi Bahar Aane Ke Din Hein' from the Album 'Visions Vol.1' sung by Jagjit Singh. The Lyrics of the song are penned by Bekhud Dehlvi while Jagjit Singh has given the music of the song. The song is released under the label Tips Music.

Na Keh Saaqi Bahar Aane Ke Din Hein Lyrics – Jagjit Singh

Na Keh Saaqi Bahar Aane Ke Din Hein Lyrics:-

ना कह साक़ी, बहार आने के दिन हैं
ना कह साक़ी, बहार आने के दिन हैं
ना कह साक़ी, बहार आने के दिन हैं

जिगर के दाग़ छिल जाने के दिन हैं
जिगर के दाग़ छिल जाने के दिन हैं

अदा सीखो, अदा आने के दिन हैं
अदा सीखो, अदा आने के दिन हैं
अदा सीखो, अदा आने के दिन हैं

अभी तो दूर शरमाने के दिन हैं
अभी तो दूर शरमाने के दिन हैं

गरेबाँ ढूँढ़ते हैं हाथ मेरे
गरेबाँ ढूँढ़ते हैं हाथ मेरे

चमन में फूल खिल जाने के दिन हैं
चमन में फूल खिल जाने के दिन हैं

ना कह साक़ी, बहार आने के दिन हैं

तुम्हें राज़-ए-मोहब्बत क्या बताएँ
तुम्हें राज़-ए-मोहब्बत क्या बताएँ
तुम्हें राज़-ए-मोहब्बत क्या बताएँ

तुम्हारे खेलने-खाने के दिन हैं
तुम्हारे खेलने-खाने के दिन हैं

घटाएँ ऊंदी-ऊंदी कह रही हैं
घटाएँ ऊंदी-ऊंदी कह रही हैं

मय-ए-अंगूर खिंचवाने के दिन हैं

ना कह साक़ी, बहार आने के दिन हैं
ना कह साक़ी, बहार आने के दिन हैं

जिगर के दाग़ छिल जाने के दिन हैं

Written By:- Bekhud Dehlvi

“Na Keh Saaqi Bahar Aane Ke Din Hein” Song Info:

Singer: Jagjit Singh
Composer: Jagjit Singh
Music Director: Jagjit Singh
Genre: Ghazal
Language: Hindi
Music Label: Tips Music
Starring: Jagjit Singh

“Na Keh Saaqi Bahar Aane Ke Din Hein” Video Song:-

Post a Comment

0 Comments