Lyrics of Jai Ambe Gauri – Anuradha Paudwal

Lyrics of Jai Ambe Gauri:- Presenting the Lyrics of Jai Ambe Gauri Aarti  from the Album Aartiyan sung by Anuradha Paudwal. The music director of the song is Arun Paudwal while T-Series being the music label company has released the song.

Lyrics of Jai Ambe Gauri

जय अम्बे गौरी, मैया जय श्यामा गौरी
तुमको निसदिन ध्यावत, तुमको निसदिन ध्यावत
हरि ब्रह्मा शिवरी ॐ जय अम्बे गौरी
जय अम्बे गौरी, मैया जय श्यामा गौरी
तुमको निसदिन ध्यावत, तुमको निशिदिन ध्यावत
हरि ब्रह्मा शिवरी ॐ जय अम्बे गौरी

माँग सिन्दूर विराजित, टीको जगमग को
उज्जवल से दो‌ नैना, चन्द्रबदन नीको
ॐ जय अम्बे गौरी

कनक समान कलेवर, रक्ताम्बर राजै
रक्तपुष्प गल माला, कण्ठन पर साजै
ॐ जय अम्बे गौरी

केहरि वाहन राजत, खड्ग खप्परधारी
सुर-नर-मुनि-जन सेवत, तिनके दुखहारी
ॐ जय अम्बे गौरी

कानन कुण्डल शोभित, नासाग्रे मोती
कोटिक चन्द्र दिवाकर, सम राजित ज्योति
ॐ जय अम्बे गौरी

शुम्भ-निशुम्भ विदारे, महिषासुर घाती
धूम्र विलोचन नैना, निसदिन मदमाती
ॐ जय अम्बे गौरी

चण्ड-मुण्ड संहारे, शोणित बीज हरे
मधु-कैटभ दो‌उ मारे, सुर भयहीन करे
ॐ जय अम्बे गौरी

ब्रहमाणी रुद्राणी तुम कमला रानी
अगम-निगम बखानी, तुम शिव पटरानी
ॐ जय अम्बे गौरी

चौंसठ योगिनी गावत, नृत्य करत भैरव
बाजत ताल मृदंगा, और बाजत डमरु
ॐ जय अम्बे गौरी

तुम ही जग की माता, तुम ही हो भरता
भक्‍तन की दु:ख हरता, सुख सम्पत्ति करता
ॐ जय अम्बे गौरी

भुजा चार अति शोभित, वर-मुद्रा धारी
मनवान्छित फल पावत, सेवत नर-नारी
ॐ जय अम्बे गौरी

कन्चन थाल विराजित, अगर कपूर बाती
श्रीमालकेतु में राजत, कोटि रतन ज्योति
ॐ जय अम्बे गौरी

श्री अम्बेजी की आरती, जो को‌ई नर गावै
कहत शिवानन्द स्वामी, सुख सम्पत्ति पावै
ॐ जय अम्बे गौरी

जय अम्बे गौरी, मैया जय श्यामा गौरी
तुमको निसदिन ध्यावत, तुमको निसदिन ध्यावत
हरि ब्रह्मा शिवरी ॐ जय अम्बे गौरी

Song Details

Devi Bhajan: Jai Ambe Gauri
Album: Aartiyan
Singer: Anuradha Paudwal
Music Director: Arun Paudwal
Language: Hindi
Genre:- Devotional
Lyricist: Traditional
Music Label: T-Series

Music Video

Share on: